मुख्य समाचार


  • अंसल बंधुओं की सजा पर रोक लगाने की अंतरिम याचिका खारिज  (19:38)
    नई दिल्ली, 3 दिसम्बर (आईएएनएस)। दिल्ली की एक अदालत ने शुक्रवार को रियल एस्टेट कारोबारी सुशील अंसल और गोपाल अंसल की अंतरिम याचिका खारिज कर दी, जिसमें उन्हें 1997 के उपहार सिनेमा अग्निकांड मामले में सबूतों से छेड़छाड़ के लिए मिली सात साल जेल की सजा को निलंबित करने की मांग की गई थी।
  • उत्तराखण्ड के लिए केवल 'चुनावी फैक्टर' नहीं पीएम मोदी  (17:10)
    नई दिल्ली, 3 दिसम्बर (आईएएनएस)। 5 राज्यों में 2022 के चुनावी रण का बिगुल बज चुका है, जैसे-जैसे पहाड़ों में तापमान कम हो रहा है, तो वहीं चुनावी तापमान बढ़ने लगा है। उत्तराखण्ड जैसे छोटे पहाड़ी राज्य में जहां अभी भाजापा काबिज है, वहीं विपक्षी दल कांग्रेस भी लगातार अपनी उपस्तिथि दर्ज करने का प्रयास कर रही है। इन्हीं सबके बीच जब भी पी एम मोदी की एंट्री उत्तराखण्ड में होती है, तो यहां के लोगों के लिए चुनावी रण चुनावी फैक्टर से ऊपर उठ जाता है। उत्तराखण्ड से पी एम का खासा नाता भी रहा है। वो यहां चुनावी सरगर्मियों के अलावा भी समय-समय पर बाबा केदार के दर्शन के लिए आ चुके हैं। शानिवार यानी 4 दिसम्बर को होने वाली रैली के लिए मंच सज चुका है, तो राज्य सरकार मोदी नाम को पूरी तरह से भुना अपनी नैया पार लगाना चाहती है, क्योंकि वो जानती है कि उत्तराखण्ड की जनता का मोदी क्रेज अभी भी पूरे चरम पर है। इसी के चलते कांग्रेस भी सीधे मोदी पर हमलावर न हो कर राज्य सरकार पर हमलावर है।