विशेष


  • हाथ नहीं, पैरों से उड़ान भर रहा दिव्यांग अमर बहादुर  (10:16)
    अमेठी, 29 फरवरी (आईएएनएस)। किसी ने ठीक ही कहा है, यदि हमारी उड़ान देखनी हो, तो आसमां से कह दो कि वो अपना कद और ऊंचा कर ले। इस कहावत को चरितार्थ कर दिखाया है, उत्तर प्रदेश के अमेठी के अमर बहादुर ने। अमर बहादुर दोंनों होंथों से लाचार हैं, लेकिन उनके हौसलों में कमी नहीं है। उनकी पढ़ाई के बीच में हाथ कभी बाधा नहीं बने। पैरों से लिखकर उन्होंने हाईस्कूल की परीक्षा पास की है।
  • गर्भवती ने मदद के बदले में नवजात का नाम ही एडिश्नल डीसीपी के नाम पर रख दिया  (16:27)
    गौतमबुद्ध नगर, 28 मार्च (आईएएनएस)। कोरोना को लेकर मची महामारी के बीच कई अजीब-ओ-गरीब वाकये भी सामने आ रहे हैं। ऐसा ही एक वाकया दो दिन पहले दिल्ली से सटे गौतमबुद्ध नगर इलाके में सामने आया। यहां एक गर्भवती महिला को तत्काल मदद चाहिए थी। आनन-फानन में एडिश्नल डीसीपी रणविजय सिंह ने मदद देकर महिला को उसके पति से मिलवाया। इस मिलाई के बीच फासला था करीब 250 किलोमीटर का। महिला उत्तरप्रदेश के बरेली शहर में थी, जबकि पति गौतमबुद्ध नगर जिले की सीमा में लॉकडाउन में फंसा हुआ था।
  • लॉकडाउन : बेटा गुजरात में फंसा, ट्वीट से पुलिस ने मां को पहुंचाया राशन  (15:53)
    बांदा/हमीरपुर (उप्र), 28 मार्च (आईएएनएस)। कोरोनावायरस के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए पूरा देश बुधवार से लॉकडाउन है, ऐसे में समस्याएं उत्पन्न होना लाजमी है। लेकिन, जब पुलिस अधिकारी सक्रिय हों, तो आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है। एक ऐसा ही मामला हमीरपुर जिले का सामने आया है, जहां का एक युवक लॉकडाउन में गुजरात में फंसा है और पुलिस ने ट्वीट से मिली जानकारी पर उसकी बीमार मां को राशन सामग्री पहुंचाया है।
  • कोरोना से संकट में किसान  (11:15)
    लखनऊ, 28 मार्च (आईएएनएस)। कोरोना वायरस से निपटने के लिए उठाया गया लॉकडाउन का कदम किसानों को संकट में डालने वाला साबित हो सकता है। खेतों में खड़ी गन्ने की फसल की कटाई, छिलाई, लदाई और मिल तक पहुंचाने की समस्या से जूझ रहे किसान के सामने अब नया संकट खड़ा है। बालियों से भरी गेंहू की फसल कुछ ही दिनों में कटाई के लिए तैयार हो जाएगी लेकिन इन्हें खोजे मजदूर भी नहीं मिल पा रहे हैं।
  • लॉकडाउन में नेताओं का जुदा अंदाज !  (15:37)
    भोपाल, 27 मार्च (आईएएनएस)। कोरोनावायरस महामारी को रोकने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 21 दिन का लॉकडाउन किया है, बडी संख्या में लोग इसका पालन कर रहे हैं। नेताओं ने भी खुद को घर में ही कैद कर रखा है और वे इस समय का उपयोग अपनी अभिरुचि को पूरा करने में लगा रहे हैं।
  • टीम बनाकर सोशल डिस्टेंसिंग का महत्व समझा रहे हैं कोरोनावॉरियर्स  (09:15)
    नई दिल्ली, 27 मार्च (आईएएनएस)। कोरोनावायरस को हराने के लिए रणनीति बनाने और फैसले लेने की जिम्मेदारी बेशक सरकार की है। इसे लागू करने के लिए पुलिस और अन्य साधनों की मदद ली जा सकती है लेकिन जब तक इसमें स्थानीय लोगों की सहभागिता ना हो तब तक इसे पूरी तरह लागू कर पाना मुश्किल है क्योंकि पुलिस और सुरक्षा बलों की पहुंच किसी भी शहर या कस्बे के हर एक व्यक्ति तक नहीं हो सकती।
  • पंडित के स्थान पर विदर्भ क्रिकेट टीम के कोच हो सकते हैं जाफर  (18:06)
    नई दिल्ली, 26 मार्च (आईएएनएस)। विदर्भ को दो बार रणजी ट्रॉफी और दो बार ईरानी ट्रॉफी का खिताब दिलाने वाले कोच चंद्रकांत पंडित ने टीम क साथ छोड़ दिया है और अब पंडित के अच्छे दोस्त तथा हाल ही में क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास लेने वाले दिग्गज बल्लेबाज वसीम जाफर उनका स्थान ले सकते हैं।
  • बिहार : गांव को लॉकडाउन कर ग्रामीण हो रहे 'सुरक्षित'  (16:13)
    बेतिया (बिहार), 26 मार्च (आईएएनएस)। एक ओर जहां बिहार के कई इलाकों में लोगों को कोरोना के संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिए लगाए लॉकडाउन का पालन करवाने के लिए प्रशासन को सख्ती करनी पड़ रही है, वहीं बिहार के पश्चिमी चंपारण जिले के हरनाटांड पंचायत के गांवों में ग्रामीण खुद को ही 'लॉकडाउन' कर रहे हैं।<
  • बिहार में 'जीविका दीदी' करेंगी मास्क की कमी दूर  (14:52)
    पटना, 26 मार्च (आईएएनएस)। कोरोनावायरस संक्रमण को रोकने के लिए राज्य और केंद्र सरकार लगातार एहतियाती कदम उठा रही है। इस बीच मास्क और सेनिटाइजर की कमी को देखते हुए सरकार अब बिहार रूरल लाइवलिहुड प्रोजेक्ट(जीविका) के तहत महिलाओं द्वारा मास्क तैयार करवाने की योजना बनाई है। कई जिलों में इसका निर्माण शुरू कर दिया गया है।
  • कैम्प कार्यालयों से कोरोना के खिलाफ जंग में जुटे योगी के मंत्री  (13:30)
    लखनऊ, 26 मार्च (आईएएनएस)। पूरे देश में लॉकडाउन होने के बाद जरूरी सेवाओं की आपूर्ति न बिगड़े इसलिए कैम्प कार्यालय से व्यवस्था बनाने में योगी सरकार के मंत्री जुटे हुए हैं। सुबह से शाम तक सोशल डिस्टेसिंग का पालन करते हुए अधिकारियों से फोन में जायजा ले रहे हैं। फोन से शिकायतों का निस्तारण भी कर रहे हैं।
  • बाहरी दिल्ली में शाम होते ही निकल जाता है सोशल डिस्टेंसिंग का दम  (08:22)
    नई दिल्ली, 26 मार्च (आईएएनएस)। कोरोनावायरस को हराने के लिए अधिकांश दिल्लीवासी सोशल डिस्टेंसिंग के महत्व को अब समझने लगे हैं। लेकिन कुछ हैं, जो अब भी घर से निकलने से बाज नहीं आ रहे हैं। सुबह के समय दूध, ब्रेड इत्यादी आवश्यक वस्तुओं की खरीदारी करके लोग घरों में चले जाते हैं लेकिन शाम को बाहरी दिल्ली के अधिकांश हिस्सों में सोशल डिस्टेंसिंग का दम निकल जाता है।
  • लॉकडाउन इफेक्ट : बिहार के मंत्री पढ़ रहे किताब, कर रहे बागवानी में काम  (14:38)
    पटना, 25 मार्च (आईएएनएस)। कोरोनावायरस के संक्रमण को रोकने के लिए सरकार द्वारा लगाए गए लॉकडाउन से आम और खास की दिनचर्या बदल गई है। आमतौर पर लोगों से घिरे रहने वाले मंत्री भी लॉकडाउन के नियमों का पालन करते दिख रहे हैं। बिहार के कई मंत्री अपने घरों में कैद होकर आवश्यक सरकारी काम निपटा रहे हैं, तो कई मंत्री पुस्तकें पढ़कर, तो कई अपने परिवारों व बच्चों के साथ समय गुजार रहे है।