विशेष


  • नेशनल्स नहीं, ओलम्पिक क्वालीफायर है लक्ष्य : अमित धनकड़  (17:32)
    नई दिल्ली, 21 नवंबर (आईएएनएस)। इस साल एशियाई चैम्पियनशिप में रजत पदक जीत चुके भारत के पुरुष पहलवान अमित धनकड़ इस समय अर्जुन की भूमिका में दिखाई दे रहे हैं। जिस तरह अर्जुन को मछली की आंख दिखाई दे रही थी, उसी तरह अमित को अगले साल ओलम्पिक खेल दिखाई दे रहे हैं और इसी के लिए वह कड़ी मेहनत कर रहे हैं।
  • झारखंड चुनाव : पहले चरण में भाजपा का सीटें बचाना चुनौती, 'अपने' दे रहे कड़ी टक्कर  (09:11)
    रांची, 21 नवंबर (आईएएनएस)। झारखंड विधानसभा चुनाव के पहले चरण की 13 विधानसभा सीटों पर 30 नवंबर को होने वाले मतदान को लेकर सभी दलों ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है। पार्टी के स्टार प्रचारकों का भी एक-दो दिन में इन क्षेत्रों में दौरा शुरू होगा। अब तक जो स्थितियां उभरी हैं उनके अनुसार इस चुनाव के प्रथम चरण की सभी सीटों पर रोचक मुकाबला होता दिख रहा है। कई सीटों पर आमने-सामने का मुकाबला है तो कई सीटों पर त्रिकोणीय संघर्ष देखने को मिल रहा है।
  • सौहार्द और सहिष्णुता की मिसाल हैं वजीरगंज के मंदिर-मस्जिद  (08:30)
    गोंडा, 21 नवम्बर (आईएएनएस)। मंदिर, मस्जिद को लेकर अयोध्या में जहां कई दशकों तक विवाद चला, वहीं वहां से महज 50 किलोमीटर दूर गोंडा जिले का वजीरगंज समाजिक सौहार्द और सहिष्णुता की मिसाल पेश कर रहा है। यहां हिन्दू-मुस्लिम एक दूसरे का सम्मान कर अपनी सहिष्णुता का परिचय देते हैं। दीवार का फासला रखने वाली मस्जिद की अजान उस समय बंद हो जाती है जब मंदिरों में शंख की आवाज गूंजती है। इसी तरह मस्जिद की अजान के समय मंदिर के घंटे बजने बंद हो जाते हैं।
  • ज्यादा चमक से गुलाबी गेंद को 'बनाने' में लग सकता है समय  (18:59)
    नई दिल्ली, 20 नवंबर (आईएएनएस)। भारत और बांग्लादेश शुक्रवार से अपना पहला दिन-रात का टेस्ट मैच कोलकाता के ईडन गार्डन्स स्टेडियम में खेलेंगी। दिन-रात टेस्ट प्रारूप नया है और इसे इसलिए अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में इसलिए लाया गया है ताकि खेल के लंबे प्रारूप की गिरती हुई साख को दोबारा स्थापित किया जा सके और दर्शकों को मैदान पर खींचा जा सके।
  • झारखंड : सरयू की बगावत से विपक्ष को मिला 'चुनावी हथियार'  (09:30)
    रांची, 20 नवंबर (आईएएनएस)। झारखंड भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के कद्दावर नेता सरयू राय की बगावत को विपक्ष अब अपना सबसे बड़ा 'चुनावी हथियार' बनाने में जुटा है। भ्रष्टाचार को लेकर राय के बयानों को विपक्ष ने न केवल जमशेदपुर में, बल्कि पूरे प्रदेश में रघुवर सरकार के खिलाफ पहुंचाने की रणनीति तैयार की है।
  • खुदी को बुलंद कर वापसी को तैयार हैं मुक्केबाज मंदीप (आईएएनएस साक्षात्कार)  (15:47)
    नई दिल्ली, 19 नवंबर (आईएएनएस)। चोट के कारण बाहर जाना और उससे पैदा होने वाली गुमनामी किसी भी खिलाड़ी को 'मार' देती है लेकिन 2014 में ग्लासगो राष्ट्रमंडल खेलों में रजत पदक जीतने वाले हरियाणा के मुक्केबाज मंदीप जांगरा के साथ ऐसा बिल्कुल नहीं है। मंदीप ने कई बार हालात से उलट जाकर खुद को साबित किया है और देश के लिए सम्मान अर्जित किया है।
  • झारखंड चुनाव : दिग्गजों के सहारे 'दंगल' जीतने की तैयारी में भाजपा  (14:05)
    रांची, 19 नवंबर (आईएएनएस)। झारखंड विधानसभा चुनाव की घोषणा और उसके बाद टिकट बंटवारे को लेकर उपजे असंतोष के बाद भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अब 'डैमेज कंट्रोल' में जुट गई है। भाजपा अब दिग्गजों के भरोसे झारखंड विधनसभा चुनाव फतह करने की कोशिश में है। सूत्रों के अनुसार, भाजपा को चुनावी मझधार पार कराने के लिए प्रधानमंत्री अब यहां छह से आठ चुनावी सभाओं को संबोधित कर सकते हैं।
  • झारखंड के चुनाव परिणाम बिहार राजग पर डालेंगे असर!  (08:13)
    रांची, 19 नवंबर (आईएएनएस)। झारखंड विधानसभा चुनाव में अच्छे परिणाम पाने के लिए सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) कोई कोर-कसर नहीं छोड़ना चाहती। यही कारण है कि बिहार भाजपा की टीम के अलावा पार्टी की केंद्रीय टीम भी यहां पूरे दमखम के साथ चुनावी मैदान में उतरी है।
  • भारत के लिए कितना सार्थक रह गया है राष्ट्रमंडल खेल  (15:17)
    नई दिल्ली, 18 नवंबर (आईएएनएस)। क्या राष्ट्रमंडल खेल आज के संदर्भ में भारत के लिए वाकई अनुपयोगी हो गए हैं? यह एक बड़ा सवाल है और इसका उत्तर खोजने के लिए कई परतों को खंगालना होगा। इस सवाल के जवाब के लिए कई ऐसी बातों की तह में जाना होगा, जो खिलाड़ियों और यहां तक की खेल प्रशासकों से जुड़ी हैं। इनमें कुछ हालातजन्य कारण भी शामिल हैं।
  • विनोद राय की गलतियों से हमें नुकसान हुआ : अनिरुद्ध चौधरी  (12:49)
    नई दिल्ली, 18 नवंबर (आईएएनएस)। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के पूर्व कोषाध्यक्ष अनिरुद्ध चौधरी ने प्रशासकों की समिति (सीओए) के पूर्व अध्यक्ष विनोद राय को लेकर तल्ख टिप्पणी की है और कहा है कि पूर्व सीएजी के कारण बोर्ड को काफी नुकसान उठाना पड़ा।
  • नागरिकता (संशोधन) विधेयक आगामी सत्र में पास करवाना चाहेगी भाजपा  (17:40)
    नई दिल्ली, 17 नवंबर (आईएएनएस)। संसद का शीतकालीन सत्र सोमवार से आरंभ हो रहा है और इस सत्र में नागरिकता (संशोधन) विधयेक 2019 पर चर्चा उसी प्रकार सरकार के मुख्य एजेंडा में शामिल है, जिस प्रकार मानसून सत्र के दौरान जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन अधिनियम 2019 को प्रमुखता दी थी।
  • एमएलसी चुनाव लड़ने को लेकर बसपा में सस्पेंस बरकार  (09:27)
    लखनऊ, 17 अक्टूबर (आईएएनएस)। बहुजन समाज पार्टी (बसपा) अभी हाल में हुए विधानसभा उपचुनाव में जीरो पर आउट होने के बाद फूंक-फूंक कदम रखना चाह रही है। इसी को ध्यान में रखकर बसपा के 11 सीटों पर संभावित स्नातक और शिक्षक विधान परिषद चुनाव लड़ने पर सस्पेंस बरकार है।
  • झारखंड चुनाव : कांग्रेस ने रांची में भाजपा से मुकाबला को झामुमो को किया आगे  (08:50)
    रांची, 17 नवंबर (आईएएनएस)। झारखंड विधानसभा चुनाव में राजधानी रांची सीट सबसे 'हॉट सीट' मानी जा रही है। लगातार छह चुनावों से रांची सीट जीतती आ रही भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने जहां एकबार फिर सी.पी. सिंह को चुनाव मैदान में उतारने की घोषणा की है, वहीं लगातार हारती रही कांग्रेस ने इस बार रांची से चुनाव न लड़ने का फैसला करते हुए गठबंधन के तहत यह सीट झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) के हिस्से दे दी है।
  • दो-टूक : 'सॉरी' हम अपने ही आईपीएस की मौत की खबर बताने में 'लेट' हो गए  (21:43)
    नई दिल्ली, 16 नवंबर 2019 (आईएएनएस)। सरकारी नौकरी का नशा और कुर्सी की कथित 'पॉवर' इंसान को कब कहां किस हद तक नीचे ले जाकर गिराए, इसका अंदाजा लगा पाना हर किसी के बूते की बात नहीं। उस पर भी दिल्ली पुलिस के पावर की 'हनक' देश में वाकई अन्य राज्यों की पुलिस से तो अलग होगी ही। क्योंकि दिल्ली पुलिस सिर्फ केंद्र सरकार के प्रति जबाबदेह और हिंदुस्तान की राजधानी की पुलिस जो ठहरी। इंसान-इंसानियत और किसी के सुख-दुख से भला उसका क्या वास्ता? बुरा तब लगता है जब, पुलिस की यह 'हनक' उसके किसी अपने और बेहद चहेते आला-आईपीएस की मौत पर ही भारी पड़ जाए।
  • गुमनामी से निकल वापसी को तैयार हैं लेग स्पिनर राहुल शर्मा (आईएएनएस इंटरव्यू)  (16:21)
    नई दिल्ली, 16 नवंबर (आईएएनएस)। एक समय था जब पंजाब के लेग स्पिनर राहुल शर्मा भारतीय टीम की नीली जर्सी में दिख रहे थे। वो जर्सी उनके मेहनत का नतीजा थी। राहुल उस समय अपने पीक पर थे लेकिन जिंदगी ने ऐसी बाजी पलटी की राहुल अब जाना-पहचाना नाम नहीं रह गए हैं। दुनिया की चकाचौंध से दूर राहुल का ध्यान हालांकि अब अपने सपने को फिर से जीने पर है। वह कहते हैं कि, "मैं वापसी करूंगा और दम से करूंगा।"