• 43 प्रतिशत लोगों ने माना कि बजट के बाद महंगाई नहीं होगी कम(11:33)
    नई दिल्ली, 2 फरवरी (आईएएनएस)| बढ़ती कीमतों व महंगाई के कारण आम जनता की बैचैनी को शांत करने में केंद्रीय बजट विफल रहा है। आईएएनएस-सीवीओटर सर्वेक्षण से पता चला कि उत्तरदाताओं में से 43 प्रतिशत से अधिक लोगों ने कहा कि बजट के बाद कीमतें नहीं घटेंगी।
  • आयकर में विकल्प के फैसले पर अधिकतर लोग संतुष्ट : सर्वे(09:00)
    नई दिल्ली, 2 फरवरी (आईएएनएस)| आम बजट में व्यक्तिगत आयकर प्रस्तावों पर अधिकतर लोगों ने संतुष्टि जाहिर की है। केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार को संसद में आम बजट पेश किया, जिसमें नागरिकों के लिए अलग-अलग टैक्स स्लैब का विकल्प दिया गया है, जिसे लोग अपने हित में मान रहे हैं।
  • मध्यम वर्ग विरोधी, नौकरियां नहीं पैदा होंगी : बजट बाद का फैसला(08:59)
    नई दिल्ली, 2 फरवरी (आईएएनएस)| आईएएनएस-सी वोटर पोस्ट बजट पोल के अनुसार, निर्मला सीतारमण का 2 घंटे 41 मिनट का बजट भाषण देश के मध्यम वर्ग और वेतनभोगी वर्ग के लोगों को खुश करने में विफल रहा है। सर्वेक्षण में कहा गया है कि 'कृषि' और 'ग्रामीण' जैसे शब्दों के उल्लेख के बावजूद बजट किसान समर्थक नहीं है।
  • वित्तमंत्री के बजट प्रस्तावों को मिले अब तक के सबसे ज्यादा अंक : सर्वे(08:53)
    नई दिल्ली, 2 फरवरी (आईएएनएस)| केंद्रीय वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण के 2 घंटे 40 मिनट के लंबे बजट भाषण में अर्थव्यवस्था के सभी क्षेत्रों को समाहित करते हुए जो प्रस्ताव किए गए हैं, उन्हें बड़ी संख्या में लोगों ने स्वीकृति दी है और इतने अंक दिए हैं कि जितने बीते आठ साल में कभी नहीं देखे गए।
  • रोमांचित नहीं, बल्कि आशावादी है मध्य वर्ग(08:49)
    नई दिल्ली, 2 फरवरी (आईएएनएस)| आम बजट के बाद आईएएनएस/सी-वोटर के सर्वेक्षण के निष्कर्षो से संकेत मिलता है कि किसान समर्थक होने के नाते, निर्मला सीतारमण द्वारा शनिवार को पेश किया गया केंद्रीय बजट मध्यम वर्ग की कल्पना को पकड़ने में विफल रहा है।
  • जीवनयापन में कठिनाई, महंगाई व आय के संकेतक मोदी सरकार के लिए 'अलार्म'(17:36)
    नई दिल्ली, 30 जनवरी (आईएएनएस)| मोदी सरकार के लिए अपने दूसरे कार्यकाल के सिर्फ आठ महीनों के अंदर ही आर्थिक मामलों और महंगाई के मोर्चे पर अच्छी खबर नहीं है। आईएएनएस-सीवोटर बजट ट्रैकर के निष्कर्षो से पता चला है कि देश के अधिकतर लोग दुखी हैं, क्योंकि उनकी आय कम हो रही है और घरेलू खर्च लगातार बढ़ते जा रहे हैं।
  • देश के ज्यादातर लोग 20 हजार रुपये मासिक आय से खुश(16:56)
    नई दिल्ली, 30 जनवरी (आईएएनएस)| देश के अधिकांश लोग 20 हजार रुपये प्रतिमाह वेतन पर खुशी महसूस कर रहे हैं। एक फरवरी को पेश होने वाले केंद्रीय बजट से पहले आईएएनएस-सीवोटर सर्वेक्षण में यह बात सामने आई है।
  • 72 प्रतिशत भारतीयों को लगता है मोदी राज में बढ़ी महंगाई(15:55)
    नई दिल्ली, 30 जनवरी (आईएएनएस)| प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार में रोजमर्रा की वस्तुओं की बढ़ती कीमतों के कारण आम जनता में बेचैनी बढ़ रही है। केंद्रीय बजट से पहले किए गए एक सर्वेक्षण में यह बात सामने आई है।
  • 66 फीसदी भारतीयों के लिए दैनिक खर्चो का प्रबंधन कठिन(15:35)
    नई दिल्ली, 30 जनवरी (आईएएनएस)| आम आदमी अब महंगाई की मार और समग्र आर्थिक मंदी महसूस कर रहा है। आईएएनएस-सीवोटर सर्वेक्षण के अनुसार, कुल 65.8 फीसदी उत्तरदाता मानते हैं कि वे हाल के दिनों में अपने दैनिक खर्चो के प्रबंधन में कठिनाई का सामना कर रहे हैं।
  • स्थिर आय ने नकारात्मक रुख बना दिया(14:45)
    नई दिल्ली, 30 जनवरी (आईएएनएस)| नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली सरकार ने भावनात्मक मुद्दों पर लोकप्रियता हासिल की है, लेकिन बीते एक साल से लोगों के अपनी आय को स्थिर पाने की वजह से उनका मूड तेजी से नकारात्मक हो रहा है।