अंतर्राष्ट्रीय


  • 'दक्षिण चीन सागर अमेरिका का प्रभुत्व सुरक्षित करने का अखाड़ा नहीं'(21:47)
    बीजिंग, 10 अप्रैल (आईएएनएस)| 7 अप्रैल को अमेरिकी नौसेना के विमान वाहक लड़ाकू पोत यूएसएस थियोडोर रूजवेल्ट ने दक्षिण चीन सागर में संयुक्त सैन्याभ्यास समाप्त किया। इस साल विमान वाहक पोत रूजवेल्ट तीसरी बार इस जल क्षेत्र में घुसा, जिसने फिर साबित किया है कि अमेरिका दक्षिण चीन सागर की शांति के लिए सबसे बड़ा खतरा है।
  • कमला हैरिस के बयान से अमेरिका का असली इरादा जाहिर हुआ(21:37)
    बीजिंग, 10 अप्रैल (आईएएनएस)| हाल ही में अमेरिकी उपराष्ट्रपति कमला हैरिस का एक बयान इंटरनेट पर वायरल हुआ। उन्होंने कहा कि पहले हुए कई युद्धों का उद्देश्य तेल संसाधनों पर कब्जा करना था। भावी युद्ध जल संसाधनों के लिए होगा।
  • 'चीन के खिलाफ अमेरिका व यूरोपीय संघ के प्रतिबंध अंतर्राष्ट्रीय कानूनों का उल्लंघन'(21:31)
    बीजिंग, 10 अप्रैल (आईएएनएस)| स्थानीय समय के अनुसार, 9 अप्रैल को चीन स्थित इटली के पूर्व राजदूत अल्बटरे ब्रैडनीनी ने इटली की स्थानीय मीडिया 'रोम लाइटहाउस' के साथ इंटरव्यू में कहा कि चीन के खिलाफ अमेरिका और यूरोपीय संघ के प्रतिबंध अंतर्राष्ट्रीय कानून का उल्लंघन करते हैं। प्रतिबंधों को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के तंत्र के माध्यम से पारित नहीं किया गया और इसे एकतरफा बनाया गया था। यह चीन के खिलाफ 'शीतयुद्ध' को लागू करने का अमेरिका का एक तरीका है।
  • ब्रिटिश अधिकारियों के फैसले का सीजीटीएन ने किया स्वागत(21:16)
    बीजिंग, 10 अप्रैल (आईएएनएस)| ब्रिटिश मीडिया ने 9 अप्रैल को कहा कि ब्रिटिश नियामक ऑफ कॉम ने मीडिया के साथ एक साक्षात्कार में कहा किसी जीटीएन चैनल की सेवा अब फ्रांस के अधिकार क्षेत्र में है। सीजीटीएन के प्रवक्ता ने शनिवार को संवाददाता के सवाल का जवाब देते हुए इसकी पुष्टि की।
  • सीपीसी के नेतृत्व में चीन का कायापलट हुआ : भारतीय मीडियाकर्मी की नजर में सीपीसी(20:57)
    बीजिंग, 10 अप्रैल (आईएएनएस)| 1 जुलाई 2021 को चीनी कम्युनिस्ट पार्टी की स्थापना की 100वीं वर्षगांठ है। इसे मनाने के लिए आजकल चीन में तरह-तरह की गतिविधियां आयोजित की जा रही हैं, जैसे पार्टी का इतिहास सीखें अभियान, पुराने रेड क्रांतिकारी स्थलों की यात्रा, संबंधित फिल्म व टीवी धारावाहिकों का प्रदर्शन और इत्यादि। ऐसे में भारतीय लोगों की नजर में सीपीसी की छवि कैसी है। आधुनिक चीन के लिए सीपीसी का मुख्य योगदान क्या है, इन सवालों को लेकर सीएमजी के हिंदी विभाग ने दिल्ली में कार्यरत फ्रीलांसर और चीनी मामलों के जानकार अमीर आजमी के साथ एक खास बातचीत की।
  • सूडान में सशस्त्र संघर्ष,137 लोगों की मौत(13:41)
    खार्तूम, 10 अप्रैल (आईएएनएस)| सूडान के पश्चिम दार्फुर राज्य की राजधानी अल जिनीना में हालिया सशस्त्र झड़पों से मरने वालों की संख्या बढ़कर 137 हो गई है, जबकि संघर्ष में 221 लोग घायल हुए हैं।
  • इंडोनेशिया में चक्रवाती तूफान से अब तक 167 लोगों की मौत(12:12)
    जकार्ता, 10 अप्रैल (आईएएनएस)| कोरोना महामारी से दुनिया अभी संभल भी नहीं पायी है कि चक्रवाती तूफान के कहर ने एक अलग मुसीबत खड़ी कर दी है। इंडोनेशिया के पूर्वी नुसा तेंगारा प्रांत में चक्रवाती तूफान सेरोजा से आई बाढ़ और भूस्खलन से मरने वालों की संख्या बढ़कर 167 हो गई है और अभी भी 45 लोग लापता हैं।
  • पहली तिमाही में चीन के विदेश व्यापार की अच्छी शुरूआत(19:13)
    बीजिंग, 9 अप्रैल (आईएएनएस)| चीनी वाणिज्य मंत्रालय के प्रवक्ता काओ फंग ने कहा है कि पहली तिमाही में चीन के विदेश व्यापार की अच्छी शुरूआत हुई और साथ ही आयात कर को श्रेष्ठ बनाने और समायोजित करने के जरिए आयात का विस्तार बढ़ाया जाएगा।
  • अंतर्राष्ट्रीय मानवीय बारूदी सुरंग हटाने की सहायता और सहयोग में संलग्न है चीन(19:03)
    बीजिंग, 9 अप्रैल (आईएएनएस)| संयुक्त राष्ट्र स्थित चीन के स्थायी प्रतिनिधि जांग चुन ने 8 अप्रैल को सुरक्षा परिषद की सुरंग अभियान मंत्रिस्तरीय वीडियो सार्वजनिक बहस में भाषण दिया। उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय सुरंग अभियान के प्रति चीन के रवैये को स्पष्ट करते हुए कहा कि चीन अंतर्राष्ट्रीय मानवीय बारूदी सुरंग हटाने की सहायता और सहयोग में संलग्न रहा है।
  • अमेरिका के विदेशों में आक्रमण युद्धों से गंभीर मानवीय आपदाएं पैदा हुईं(18:59)
    बीजिंग, 9 अप्रैल (आईएएनएस)| चीनी मानवाधिकार अनुसंधान सोसायटी ने 9 अप्रैल को 'अमेरिका के विदेशों में आक्रमण युद्धों ने गंभीर मानवीय आपदाओं को जन्म दिया' शीर्षक लेख प्रकाशित किया। जिसमें अमेरिका द्वारा मानवाधिकार हस्तक्षेप की आड़ में विदेशों में बल प्रयोग वाली कार्रवाई का खुलासा किया गया और कहा गया कि इन युद्धों में न केवल बड़ी संख्या में सैनिकों ने जान गंवाई, बल्कि आम नागरिकों और संपत्ति का भारी नुकसान हुआ, और साथ ही साथ गंभीर मानवीय आपदाएं भी पैदा हुई।
  • चीन ने नए उपग्रह का सफल प्रक्षेपण किया(18:54)
    बीजिंग, 9 अप्रैल (आईएएनएस)| चीन ने शुक्रवार (9 अप्रैल) को 7 बजकर 1 मिनट पर थाईयुआन उपग्रह प्रवेक्षण केंद्र से लांग मार्च 4-बी वाहक रॉकेट से शयान-6 का तीसरा उपग्रह प्रक्षेपित किया। यह उपग्रह सफलतापूर्वक निर्धारित कक्षा में पहुंच गया है।