• उप्र : निर्भया के गांव में जश्न(17:01)
    बलिया, 20 मार्च (आईएएनएस)| भारतीय समाज में मौत का मातम मनाने की परंपरा है। लेकिन इसके ठीक उलट निर्भया के गांव मेडौला कलां में शुक्रवार को लोग निर्भया के चारों दोषियों को फांसी दिए जाने पर जश्न मना रहे हैं। इस गांव को लोग निर्भया का गांव ही कहने लगे हैं।
  • निर्भया के मुजरिमों की जिंदगी के वे आखिरी क्षण..(आईएएनएस इनसाइड स्टोरी)(13:38)
    संजीव कुमार सिंह चौहान
    नई दिल्ली, 20 मार्च (आईएएनएस)| फांसी पर टांगे जाने की खबर ने निर्भया के मुजरिमों की आंखों से नींद उड़ा दी थी। रात भर जागते रहे। सुबह करीब तीन बजे चारों को उनकी काल-कोठरियों से थोड़े-थोड़े समय के अंतराल से अलग-अलग बाहर निकाला गया। जैसे ही उन सबको बताया गया कि वे सब नित्यक्रिया से निपट जाएं और नए कपड़े (जेल से ही मुहैया कराए गए) पहन लें। इतना सुनते ही दो कैदी रोते हुए जेलकर्मियों के पांव में लोटकर बिलखने लगे।
  • 'निर्भया' को मिले 'न्याय' का 'उत्सव'(11:39)
    रोहन अग्रवाल और आकांक्षा खजूरिया
    नई दिल्ली, 20 मार्च (आईएएनएस)| जैसे-जैसे रात ढलती गई, तिहाड़ जेल के बाहर रोमांच और कौतूहल से भरे लोगों की भीड़ बढ़ती गई। पल-पल का ये इंतजार बता रहा था कि भारत के सबसे बड़े आपराधिक मामलों में से एक-निर्भया सामूहिक बलात्कार के मामले में न्याय के लिए सात साल और तीन महीने के लंबे इंतजार के बाद पूरा देश इंसाफ पाने के लिए किस कदर बेताब है।
  • हमारे लिए एक नई सुबह की शुरुआत : निर्भया के दादा(11:08)
    बलिया (उत्तरप्रदेश), 20 मार्च (आईएएनएस)| निर्भया सामूहिक दुष्कर्म और हत्याकांड के चारों दोषियों को शुक्रवार सुबह तिहाड़ जेल में ठीक 5.30 बजे फांसी दे दी गई। इस पर प्रतिक्रिया देते हुए निर्भया के दादा लालजी सिंह ने कहा कि सात साल बाद हमारे लिए एक नई सुबह की शुरुआत हुई है।
  • निर्भया कांड : दोषियों ने गुजारी बेचैन रात(10:24)
    नई दिल्ली, 20 मार्च (आईएएनएस)| निर्भया सामूहिक दुष्कर्म और हत्याकांड के चारों दोषियों अक्षय ठाकुर, मुकेश सिंह, विनय शर्मा और पवन गुप्ता ने अपनी फांसी से पहले की रात बेचैनी में गुजारी।
  • कोरोना का भय भी तिहाड़ आने से लोगों को रोक नहीं सका(08:09)
    नई दिल्ली, 20 मार्च (आईएएनएस)| निर्भया के साथ एकजुटता दिखाने और सात साल बाद उसे मिले न्याय को लेकर खुशी जाहिर करने के लिए कोविड-19 संक्रमण का भय भी तिहाड़ के बाहर लोगों को इकट्ठा होने से नहीं रोक सका। निर्भया सामूहिक दुष्कर्म और हत्याकांड के चारों दोषियों को तिहाड़ जेल में शुक्रवार सुबह ठीक 5.30 बजे फांसी दे दी गई।
  • तिहाड़ में पहली बार हुई एक साथ चार लोगों को फांसी (लीड-1)(07:47)
    नई दिल्ली, 20 मार्च (आईएएनएस)| निर्भया सामूहिक दुष्कर्म और हत्याकांड के चारों दोषियों को तिहाड़ जेल में शुक्रवार सुबह ठीक 5.30 बजे फांसी दे दी गई। इसके साथ ही तिहाड़ में पहली बार एक साथ चार लोगों को फांसी दी गई है। इन चारों दोषियों को दुष्कर्म के एक मामले में फांसी की सजा दी गई।
  • तिहाड़ में पहली बार हुई एक साथ चार लोगों को फांसी(07:31)
    नई दिल्ली, 20 मार्च (आईएएनएस)| निर्भया सामूहिक दुष्कर्म और हत्याकांड के चारों दोषियों को तिहाड़ जेल में शुक्रवार सुबह ठीक 5.30 बजे फांसी दे दी गई। इसके साथ ही तिहाड़ में पहली बार एक साथ चार लोगों को फांसी दी गई है। इन चारों दोषियों को दुष्कर्म के एक मामले में फांसी की सजा दी गई।
  • निर्भया मामला : डॉक्टरों ने चारों दोषियों की मौत की पुष्टि की(07:21)
    नई दिल्ली, 20 मार्च (आईएएनएस)| डॉक्टरों ने निर्भया सामूहिक दुष्कर्म व हत्या मामले के चारों दोषियों की मौत की पुष्टि कर दी है। चारों दोषियों को शुक्रवार तड़के साढ़े पांच बजे फांसी पर लटकाया गया। इसके बाद उन्हें कुछ देर तक फंदे पर ही लटके हुए छोड़ दिया। डॉक्टरों ने सभी दोषियों की नब्ज देखकर व अन्य जरूरी जांच करके उनकी मौत की पुष्टि की है।
  • तिहाड़ के बाहर 'निर्भया जिंदाबाद, ए. पी. सिंह मुर्दाबाद' के नारे लगे(07:17)
    नई दिल्ली, 20 मार्च (आईएएनएस)| निर्भया के दोषियों को फांसी की सजा मिलते ही तिहाड़ जेल के बाहर अलग ही नजारा देखने को मिला। इस दौरान तिहाड़ के बाहर एकत्रित स्थानीय लोग निर्भया जिंदाबाद के नारे लगाते नजर आए। इसके साथ ही उन्होंने दोषियों का प्रतिनिधित्व करने वाले वकील को खूब कोसा।
  • कड़ी सुरक्षा के बीच तिहाड़ से मेरठ के लिए रवाना हुआ पवन जल्लाद(06:37)
    नई दिल्ली, 20 मार्च (आईएएनएस)| निर्भया सामूहिक दुष्कर्म और हत्याकांड के चारों दोषियों को तिहाड़ जेल में शुक्रवार सुबह ठीक 5.30 बजे फांसी दे दी गई। अदालत द्वारा दिए गए मृत्युदंड के फैसले को क्रियान्वित करने वाले पवन जल्लाद को कड़ी सुरक्षा के बीच तिहाड़ जेल से मेरठ के लिए रवाना कर दिया गया है।
  • आखिरकार फांसी! सुबह के ठीक 5.30 बजे भीड़ ने मनाया जश्न(06:32)
    नई दिल्ली, 20 मार्च (आईएएनएस)| निर्भया सामूहिक दुष्कर्म और हत्याकांड के दोषियों को तिहाड़ जेल में शुक्रवार सुबह 5.30 बजे फांसी दे दी गई, जिसके बाद जेल के बाहर इकट्ठा हुई भीड़ ने आखिरकार दोषियों को फांसी दिए जाने के निश्चित समय पर मिठाई बांटकर जश्न मनाया और 'निर्भया जिंदाबाद' के नारे लगाए।
  • पिछले 36 घंटों से फांसी की तैयारियों में जुटे रहे तिहाड़ के वरिष्ठ अधिकारी(06:29)
    नई दिल्ली, 20 मार्च (आईएएनएस)| निर्भया के दोषियों को दी जाने वाली फांसी की तैयारियों के मद्देनजर तिहाड़ जेल के महानिदेशक संदीप गोयल, एडिशनल इंस्पेक्टर जनरल राजकुमार और जेल नंबर-3 के सुपरिटेंडेंट सुनील बुधवार की सुबह से ही जेल से बाहर नहीं गए। ये तमाम आला अधिकारी निर्भया के गुनगहारों को फांसी देने की तैयारियों में जुटे रहे।
  • दोषियों को फांसी, निर्भया को मिला इंसाफ (लीड-1)(06:11)
    आकांक्षा खजूरिया
    नई दिल्ली, 20 मार्च (आईएएनएस)| राष्ट्रीय राजधानी में एक फिजियोथेरेपी छात्रा के साथ क्रूर सामूहिक दुष्कर्म व हत्या करने वाले दोषियों को आखिरकार सात साल से अधिक समय बीत जाने के बाद शुक्रवार तड़के तिहाड़ जेल में फांसी दे दी गई।
  • निर्भया के दोषियों को दी गई फांसी(05:43)
    नई दिल्ली, 20 मार्च (आईएएनएस)| निर्भया के चारों दोषियों को शुक्रवार की सुबह तिहाड़ जेल में फांसी पर लटका दिया गया है। जैसे ही घड़ी में पांच बजकर 32 मिनट का समय हुआ तो तिहाड़ जेल से फांसी दिए जाने की खबर पता चली। सूचना पाते ही जेल के बाहर खड़े निर्भया के परिजनों समेत स्थानीय लोगों के चेहरे पर खुशी दौड़ पड़ी।