• विदेशी मीडिया ने इस तरह की चंद्रयान-2 मिशन की कवरेज(21:47)
    नई दिल्ली, 7 सितम्बर (आईएएनएस)| चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर भारत के महत्वाकांक्षी अभियान चंद्रयान-2 ने वैश्विक स्तर पर सुर्खियां बटोरी, हालांकि मिशन का लैंडर-विक्रम का चांद की धरती पर सॉफ्ट लैंडिंग करने से पहले ही इसरो से संपर्क टूट गया।
  • अंतरिक्ष विज्ञानियों ने की इसरो की प्रशंसा(17:55)
    नई दिल्ली, 7 सितम्बर (आईएएनएस)| दुनियाभर के अंतरिक्ष समर्थकों और शोधकर्ताओं ने शनिवार को भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) और इसके 16,000 से अधिक वैज्ञानिकों द्वारा भारत के चंद्र मिशन को करीब-करीब पूरा कर लेने के प्रयासों की तारीफ की।
  • मुख्यमंत्री योगी, मायावती व प्रियंका गांधी ने इसरो के प्रयास को सराहा(16:51)
    लखनऊ, 7 सितंबर (आईएएनएस)| चांद की सतह के बेहद करीब पहुंचने के बाद लैंडर विक्रम से भले ही संपर्क टूट गया हो, लेकिन इसरो के बेहतर प्रयासों के लिए उत्तर प्रदेश के सभी राजनीतिक दलों के नेताओं ने वैज्ञानिकों की सराहना की है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के अलावा बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की अध्यक्ष मायावती व कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव तथा प्रियंका गांधी वाड्रा ने ट्वीट के जरिए इसरो के प्रयासों की प्रशंसा करते हुए वैज्ञानिकों को बधाई दी है।
  • भूटान के प्रधानमंत्री ने चंद्रयान-2 के लिए इसरो को सराहा(15:36)
    थिम्पू, 7 सितम्बर (आईएएनएस)| भूटान के प्रधानमंत्री लोतेय शेरिंग ने शनिवार को भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के वैज्ञानिकों के साहस और चंद्रयान-2 पर की गई कड़ी मेहनत की तारीफ की। उन्होंने कहा कि उन्हें पूरा यकीन है कि इसरो भविष्य में अपने अंतरिक्ष मिशन को जरूर पूरा कर लेगा।
  • प्रधानमंत्री ने अंतरिक्ष वैज्ञानिकों की हौसला अफजाई की (लीड-2)(14:27)
    बेंगलुरू, 7 सितम्बर (आईएएनएस)| लैंडर विक्रम का शनिवार तड़के चांद के सतह पर उतरने से कुछ समय पहले संपर्क टूटने और चंद्रयान मिशन-2 को झटका लगने के कुछ घंटे बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कड़ी मेहनत करने के लिए सैकड़ों भारतीयों अंतरिक्ष वैज्ञानिकों और इंजीनियरों की हौसला अफजाई की और उनसे हिम्मत नहीं हारने के लिए कहा।
  • चंद्रयान-2 : सोशल मीडिया पर ट्रेंड कर रहा, हैशटैग 'भाई लैंड करा दे'(14:13)
    नई दिल्ली, 7 सितम्बर (आईएएनएस)| चंद्रयान-2 के लैंडर विक्रम का बीती रात चंद्रमा की सतह पर उतरने से कुछ ही समय पहले भारतीय अंतरीक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) से संपर्क टूटने के बाद सोशल मीडिया पर हैशटेग 'भाई लैंड करा दे' ट्रेंड करने लगा, जिसके जरिए यूजर्स ने अपनी भावनाएं साझा कीं।
  • राहुल गांधी ने इसरो से कहा, 'आपका काम व्यर्थ नहीं हुआ है'(11:53)
    नई दिल्ली, 7 सितम्बर (आईएएनएस)| कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को चंद्रयान -2 मिशन पर असाधारण काम के लिए इसरो की सराहना की। उन्होंने कहा उनका जुनून और समर्पण हर भारतीय के लिए एक प्रेरणा है और उनका काम व्यर्थ नहीं हुआ है, बल्कि इसने कई पथ-प्रदर्शक भारतीय अंतरिक्ष मिशनों की नींव रखी है।
  • डटे रहें, हमारा सर्वश्रेष्ठ आना अभी बाकी है : इसरो वैज्ञानिकों से मोदी (लीड-1)(10:56)
    बेंगलुरू, 7 सितम्बर (आईएएनएस)| चंद्रमा की सतह पर उतरने से कुछ ही समय पहले लैंडर विक्रम का सिग्नल खोने के बाद निराशा के माहौल से जूझ रहे इसरो के वैज्ञानिकों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संबोधित किया। चंद्रयान-2 की टीम की हौसलाअफजाई करते हुए और उन्हें आगे बढ़ने के प्रेरित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, "आप उतना करीब पहुंचे जितना हो सकता था। अडिग रहें और आगे बढ़ें।"
  • मैं आपकी उदासी को समझ सका : वैज्ञानिकों से मोदी(08:33)
    बेंगलुरू, 7 सितम्बर (आईएएनएस)| भारत का चंद्र मिशन असफल होने के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने बेंगलुरू के इसरो केंद्र में वैज्ञानिकों को संबोधित करते हुए कहा कि वह वैज्ञानिकों के चेहरों की उदासी को पढ़ सकें।
  • वैज्ञानिकों पर गर्व है : हर्षवर्धन(04:47)
    नई दिल्ली, 7 सितम्बर (आईएएनएस)| केंद्रीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री हर्षवर्धन ने शनिवार को कहा कि चंद्रयान-2 पर इसरो का प्रयास पूरे देश के लिए महत्वपूर्ण क्षण था।
  • चांद पर उतरने से पहले लैंडर विक्रम से संपर्क टूटा, मोदी ने दिया सांत्वना (लीड-2)(02:50)
    बेंगलुरू, 7 सितम्बर (आईएएनएस)| भारत के मून लैंडर विक्रम से उस समय संपर्क टूट गया, जब वह शनिवार तड़के चंद्रमा की सतह की ओर बढ़ रहा था। इससे जहां इसरो के वैज्ञानिकों में निराशा देखने को मिली, वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसरो के वैज्ञानिकों का हौसला बढ़ाते हुए कहा कि आपने बहुत अच्छा काम किया है। उन्होंने कहा कि जीवन में उतार-चढ़ाव आते रहते हैं और यह यात्रा जारी रहेगी।
  • मोदी ने इसरो के वैज्ञानिकों से कहा, साहसी बनें(02:30)
    बेंगलुरू, 7 सितम्बर (आईएएनएस)| चंद्रयान-2 के लैंडर विक्रम को चंद्रमा की सतह पर उतरने की प्रक्रिया का साक्षी बनने यहां पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को इसरो के वैज्ञानिकों से तब साहसी बनने के लिए कहा, जब विक्रम का संपर्क इसरो से टूट गया।