विशेष


  • भगवान राम पर नेपाली प्रधानमंत्री के बयान से भड़के संत और विहिप  (12:54)
    अयोध्या, 14 जुलाई (आईएएनएस)। नेपाल के प्रधानमंत्री के.पी. शर्मा ओली के भगवान राम पर दिये गये बयान पर अयोध्या के संतों और विश्व हिन्दू परिषद (विहिप) ने नाराजगी जताई है। संतो ने अपनी तीखी प्रतिक्रिया में कहा कि अयोध्या और भगवान राम का इतिहास पूरी दुनिया को पता है। यह सर्वविदित है इसका इतिहासों, पुराणों में उल्लेख है।
  • मधुबनी पेंटिंग वाला मास्क पहुंच रहा विदेश  (14:24)
    पटना, 13 जुलाई (आईएएनएस)। बिहार में कोरोना से बचने के लिए सरकार जहां मास्क का उपयोग करने की अपील कर रही है, वहीं बिहार के कलाकार इस मास्क पर बिहार की विरासत मधुबनी पेंटिंग को उकेर कर ना केवल मास्क को सुंदर बना रहे हैं बल्कि इसके जरिए आय का जरिया भी पा लिया है।
  • अब तो ट्रम्प ने भी समझा मास्क का महत्व!  (19:30)
    बीजिंग, 12 जुलाई (आईएएनएस)। कोरोना काल के दौरान अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पहली बार इस शनिवार को मास्क पहने हुए नजर आए। जी हां, वही डोनाल्ड ट्रंप जो कोरोना वायरस महामारी के दौरान महीनों तक मास्क ना पहनने की पैरवी करते थे। सार्वजनिक स्थानों पर मास्क लगाने से उन्हें परहेज था जिसको लेकर उनकी काफी आलोचना होती थी। लेकिन इस बार डोनाल्ड ट्रंप एक सैन्य अस्पताल के दौरे पर गए जहां उन्होंने मास्क पहन रखा था।
  • बीजेपी के संसदीय बोर्ड में खाली 4 पदों पर टिकीं निगाहें, कई नामों पर चल रही चर्चा  (20:23)
    नई दिल्ली, 10 जुलाई(आईएएनएस)। भारतीय जनता पार्टी की नई राष्ट्रीय टीम तैयार कर ली गई है। किसी भी समय टीम में शामिल चेहरों के नामों की घोषणा हो सकती है। पार्टी के संसदीय बोर्ड में खाली चार पदों पर पार्टी नेताओं सहित सभी की निगाहें टिकीं हैं। वजह कि संसदीय बोर्ड में जगह संगठन में कद बड़ा होने और ताकतवर बनने की निशानी मानी जाती है। सुषमा स्वराज का निधन होने के बाद पार्लियामेंट्री बोर्ड में एक भी महिला नहीं है। ऐसे में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी का नाम चर्चा में है। दोनों में किसी एक महिला नेता को पार्लियामेंट्री बोर्ड में जगह मिल सकती है।
  • शिवराज के मंत्रियों के विभाग वितरण की गुत्थी अब भी उलझी  (18:29)
    भोपाल 10 जुलाई (आईएएनएस)। मध्यप्रदेश में शिवराज सिंह चौहान सरकार के मंत्रिमंडल का दूसरा विस्तार हुए आठ दिन गुजर गए हैं मगर मंत्रियों को विभाग वितरण की गुत्थी अब तक नहीं सुलझ पाई है। सरकार की ओर से अब भी यही कहा जा रहा है कि जल्दी ही विभागों का वितरण कर दिया जाएगा।