समाज/धर्म/जीवनशैली


  • मप्र में 132 ट्रेन से 1 लाख 69 हजार श्रमिक वापस आए(19 मिनट पहले)
    भोपाल, 30 मई (आईएएनएस)| कोरोना संक्रमण के कारण दूसरे प्रदेशों में फंसे मध्यप्रदेश के श्रमिकों को वापस लाने का अभियान जारी है। राज्य में अब तक 132 ट्रेनों से एक लाख 69 हजार श्रमिकों की वापसी हो चुकी है।
  • लॉकडाउन 5.0 : 'एग्जिट प्लान' में मेट्रो, मॉल, रेस्तरां के लिए सकारात्मक संकेत(18:14)
    रजनीश सिंह
    नई दिल्ली, 29 मई (आईएएनएस)| राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन का चौथा चरण तीन दिन बाद पूरा हो जाएगा और इसके बाद के चरण में केंद्र की ओर से एक नया रोडमैप के आने की संभावना है, जिसमें मॉल और रेस्तरां को खोलने की छूट दी जा सकती है। इस बात की प्रबल संभावना है कि केवल कंटेनमेंट जोन में प्रतिबंध लागू रहेंगे और बाकी के कई क्षेत्रों को खोलने की अनुमति दे दी जाएगी।
  • पीएमजीकेएवाई : दिल्ली, पश्चिम बंगाल में नहीं बटा मई महीने का अनाज(15:05)
    नई दिल्ली, 29 मई (आईएएनएस)| केंद्रीय उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्री राम विलास पासवान ने शुक्रवार को बताया कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना (पीएमजीकेएवाई) के तहत दिल्ली और पश्चिम बंगाल में सार्वजनिक वितरण प्रणाली के लाभार्थियों को अब तक मई महीने का कुछ भी अनाज नहीं मिल पाया है।
  • हिंदुओं पर अत्याचारों की बात कोई नहीं करता : विहिप(14:21)
    नई दिल्ली, 29 मई (आईएएनएस)| विश्व हिंदू परिषद (विहिप) ने कहा कि अगर देश में मुस्लिमों पर कोई एक घटना भी घटे तो उसे अंतरराष्ट्रीय मंच पर उठाया जाता है, लेकिन हिन्दुओं पर हो रहे अत्याचारों की कोई बात नहीं करता। हरियाणा में मेवात की घटना पर ध्यान आकृष्ट करते हुए विहिप ने कहा कि यहां गांव के गांव हिंदू जनसंख्या से विहीन हो गई है, लोग पलायन करने को मजबूर हो गए हैं, लेकिन अभी तक इस मामले में माकूल कार्रवाई नहीं हुई।
  • झारखंड : आईएएस अधिकारी ने कोरोना की जंग में तकनीक को बनाया हथियार(13:28)
    मनोज पाठक
    रांची, 29 मई (आईएएनएस)| ऐसे तो इस कोरोना संक्रमण काल में सभी अधिकारी अपनी क्षमता के मुताबिक कोरोना से जंग लड़ रहे हैं। इस लड़ाई में झारखंड में एक ऐसे भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) अधिकारी भी हैं जो अपने कायोंर्ं के अलावे अपनी इंजीनियरिंग के ज्ञान का भी उपयोग इस जंग में कर रहे हैं, जिसका लाभ आम लोगों से लेकर विभाग तक को हो रहा है।
  • चीन ने गरीबी उन्मूलन और रोजगार पर जोर दिया(00:22)
    बीजिंग, 29 मई (आईएएनएस)| वर्ष 2020 चीन में व्यापक रूप से खुशहाल समाज का निर्माण करने और गरीबी को दूर करने का महत्वपूर्ण वर्ष है। एनपीसी व सीपीपीसीसी में गरीबी को दूर करने में चीन का ²ढ़ संकल्पव्यक्त किया गया। चीन को कोविड-19 महामारी के कुप्रभाव को दूर करके इस वर्ष के अंत में गरीबी उन्मूलन कार्य में व्यापक की उम्मीद है।
  • झारखंड में विमान से लाए गए 180 प्रवासी मजदूर(22:00)
    रांची, 28 मई (आईएएनएस)| झारखंड की राजधानी रांची के हवाईअड्डे पर गुरुवार को एयर एशिया के विमान से 180 प्रवासी मजदूरों को लाया गया। झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने इसके लिए एलुमनाई नेटवर्क ऑफ नेशनल स्कूल ऑफ बेंगलुरु का आभार जताया है।
  • टिड्डियों की फौज से सीमा पर ही निपटेगा भारत : कैलाश चौधरी (एक्सक्लूसिव)(19:30)
    प्रमोद कुमार झा
    नई दिल्ली, 28 मई (आईएएनएस)| हरियाली का दुश्मन टिड्डी दुनिया के करीब 50 देशों में फसलों पर कहर बरपाता रहा है, लेकिन भारत ने इससे निपटने के लिए अब पूरी तैयारी कर ली है। भारत सरकार के मंत्री और राजस्थान के बाड़मेर से सांसद कैलाश चौधरी की माने तो टिड्डियों की फौज को अब देश की सीमा में घुसने नहीं दिया जाएगा।
  • यात्रा में मरे मजदूरों के परिजनों को मुआवजा दिलाने को पटना में कांग्रेस का धरना(18:52)
    पटना, 28 मई (आईएएनएस)| कोरोना संक्रमण काल में यात्रा के दौरान मरने वाले प्रवासी मजदूरों के परिजनों को मुआवजा देने की मांग को लेकर गुरुवार को बिहार कांग्रेस के कार्यकर्ता पटना स्थित प्रदेश कार्यालय के द्वार पर धरने पर बैठे। इस दौरान कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सरकार से यात्रा के दौरान दुर्घटना के शिकार हुए मजदूरों की सूची जारी करने की मांग भी की।
  • कोविड-19 : 'मैं सिर्फ राशन देकर मदद करता हूं, पैसा आखिर कब तक किसी का पेट भरेगा?'(18:12)
    नई दिल्ली, 28 मई (आईएएनएस)| देश की राजधानी दिल्ली में एक दिव्यांग व्यक्ति ने संकट की इस घड़ी में अन्य दिव्यांग व्यक्तियों और विधवा महिलाओं की मदद कर मानवता की मिसाल पेश की। लॉकडाउन के दौरान इन्होंने इन सभी की मदद राशन देकर की। इनका मानना है कि पैसा आखिर कब तक किसी का पेट भरेगा, इसलिए वह सिर्फ राशन देकर लोगों की मदद करते हैं।
  • कोरोना से जंग : भेदभाव रूपी वायरस को चट कर रहा संकल्पित युवा(17:59)
    विवेक त्रिपाठी
    सिद्धार्थनगर, 28 मई (आईएएनएस)| कोरोना के खिलाफ चल रही लड़ाई के बीच समाजसेवियों, व्यवसायियों और उदारवादी चेहरों की भरमार है। वहीं सिद्धार्थनगर के युवा राजन द्विवेदी न सिर्फ मानवता की मिसाल कायम कर रहे हैं, बल्कि समाज में नासूर बने भेदभाव पर भी कुठाराघात कर रहे हैं। भगवान बुद्ध की धरती पर दो वक्त की रोटी को तरस रहे चांडालों (शवदाह करने वाले) को भोजन उपलब्ध करा यह युवा समाज को नई दिशा दिखा रहा है। वह एक ऐसे वायरस को मिटाने में जुटा है, जिसने समाज के ताने-बाने को नष्ट कर दिया है।
  • अपने गिरेबान में झांके पाकिस्तान : विहिप(17:05)
    नई दिल्ली, 28 मई (आईएएनएस)| पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के बयान पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए विश्व हिंदू परिषद (विहिप) के केंद्रीय महामंत्री मिलिंद परांडे ने कहा है कि पड़ोसियों पर कीचड़ उछालने से पहले पाकिस्तान को चाहिए कि वह अपने गिरेबान में झांके।
  • बिहार : शिक्षाविद हर्बल सैनिटाइजर से लड़ रहा कोरोना से जंग(13:53)
    मनोज पाठक
    मोतिहारी, 28 मई (आईएएनएस)| एक ओर जहां आज कोरोना संक्रमण काल में प्रवासी मजदूर हाथ में झोला लिए और कंधों में बैग लटकाए पैदल अपने गांवों में पहुंच रहे हैं, वहीं इनके बीच बिहार के पूर्वी चंपारण जिला मुख्यालय मोतिहारी में एक ऐसे भी शख्स हैं जो सैनिटाइजर के जरिए कोरोना से जंग लड़ रहे हैं। ये शख्स शहरों से लेकर गांवों में प्राकृतिक रूप से तैयार कर सैनिटाइजर ना केवल बांट रहे हैं बल्कि कई क्षेत्रों को सेनिटाइज भी कर रहे हैं।
  • कश्मीर का खीर भवनी मेला रद्द(22:24)
    श्रीनगर, 27 मई (आईएएनएस)| जम्मू एंड कश्मीर धर्मार्थ ट्रस्ट के अनुसार, 30 मई को होने वाला वार्षिक खीर भवानी मेला और यात्रा कोरोनावायरस महामारी के कारण नहीं आयोजित होगा।
  • बिहार : क्वारंटीन सेंटर में युवक की खुराक 40 रोटियां, 10 प्लेट चावल(21:36)
    मनोज पाठक
    बक्सर (बिहार), 27 मई (आईएएनएस)| बिहार के बक्सर जिले का एक क्वारंटीन सेंटर चर्चा का केंद्र बन गया है। इस क्वारंटीन सेंटर में रह रहे एक युवक की भूख ने सबको हैरत में डाल दिया है। इस युवक की खुराक है 40 रोटियां और 10 प्लेट भात (उबला चावल)। प्रखंड के अधिकारी भी इसकी खुराक को देखकर हैरान और परेशान हैं।